बंद करे

कपास

प्रकार:  
प्राकृतिक फसलें
खरगौन कपास उत्पादन मे अग्रणी जिलों मे से एक है

प्रदेश की जलवायु तथा मुख्य रूप से निमाड क्षेत्र कपास उत्पादक मुख्य क्षेत्र है। कपास को सफेद सोने के रूप में भी जाना जाता है। खरगौन जिला प्रमुख कपास उत्पादक जिलों में से एक है। यह जिले की प्राथमिक नकदी फसल है। कई सूती उद्योग यहां स्थापित किए गए हैं और कई वर्षों से सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं।

जलवायु – कपास उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों की फसल है और 21 डिग्री सेल्सियस और 35 डिग्री सेल्सियस के बीच समान रूप से उच्च तापमान की आवश्यकता होती है।

मिट्टी – कपास की अच्छी पौध वृद्धि के लिए बलुई दोमट एवं गहरी काली मिट्टी वाले ऐसे खेत जिसमें जीवांश की पर्याप्त मात्रा हो तथा बारानी दशाओं मे अच्छी पैदावार के लिए पर्याप्त जल संरक्षण के साथ उचित निकास की व्यवस्था हो, उपयुक्त रहते ही।

उन्नत संकर एवं अन्य किस्में – जेकेएच-1, जेकेएच-2, जेकेएच-3, डीसीएच-32, जेके-35 आदि